४० के पार क्यों करवानी चाहिए अपनी स्वास्थ्य की जाँच




stethoscope
लावण्या

यदि आपकी उम्र ४० के पार है तो सावधान हो जायिए, क्योकि इस उम्र में सेहत बिगड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

शरीर के उत्तक टूटने लगते है और प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है. इसी उम्र में आदमी पर काम का बोझ ज्यादा होता है और इस कारण आदमी अपने ही प्रति लापरवाह हो जाता है ।

फिर दोस्तों के साथ पार्टियां या सहेलियों के साथ किट्टी । खाने-पीने में कोई परहेज नहीं । पर यह सब बंद कर अपनी सेहत पर अब खासा ध्यान देना शुरू करें ।

ये कुछ खास उपाय आपको बताती हूँ ,आपके काम जरुर आएँगे।

४० की उम्र के बाद आँख से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं।दवाओं के शीशी पर बारीक़ लिखी जानकारी को पढ़ने का प्रयास करें अगर आप उन शब्दों को ठीक ढंग से न पढ़ पाए तो समझिये आपकों अपनी आखों की जाँच करा लेनी चाहिए ।

यदि आखों की रौशनी ठीक भी है तो भी आपको कुछ सावधानियां बरतनी ही चाहिए।

धूप में निकलने से पहले सन ग्लास पहनना फायदेमंद होगा ।धूप मे खुली आखों पर बुरा असर पड़ सकता है। इसी से जैसे मोतियाबिन्द जैसी बीमारियां हो सकती हैं ।

४० की उम्र पार करते ही आपको ब्लड प्रेशर , कॉलेस्ट्रोल और ब्लड शुगर की समस्या भी हो सकती है। आप जब भी किसी फार्मेसी में जाए तो अपना ब्लड प्रेशर जरुर नपवाये और डॉक्टर के पास जाकर अपना शुगर और कॉलेस्ट्रोल लेवल भी नपवाये।

बढती उम्र के साथ जोड़ो और मांसपेशियों मे दर्द जैसी दिकत्ते हो भी हो सकती हैं , इनसे बचने के लिए व्यायाम और योगा करना लाभदायक होगा।

जब आप बढती उम्र के साथ कुछ स्वास्थ्य सम्बन्धी कुछ दिक्कतें महसूस करते है तो अपने परिवारिक इतिहास की भी जानकारी लेना आपके लिए लाभदायक होगा ।

आपके परिवार मे अगर किसी को कैंसर या दिल से जुड़ी बीमारी रही हो तो वो आपको भी होने की आशंका हो सकती है ।इस लिए हर महीने के अंत मे एक बार अपनी जांच जरुर करवाए।

खाने मे आप जितना फाइबर लेंगे आपके लिए उतना ही अच्छा होगा और फल खाना आपके लिए लाभदायक रहेगा । विटामिंस , कैल्शियम और प्रोटीन्स खाने से शरीर मे फुर्ती बरक़रार रहेगी और आप एक स्वस्थ और उर्जा से भरी जिंदगी जी पाएंगे|

बिग बाएर

hindi-pic

लावण्या